मैथिलीक सर्वोच्च कविकेँ देल गेल काव्यांजलि

[ADINSETER AMP]
  • कालिदास विद्यापति साइंस कॉलेज, उच्चैठमे विद्यापति स्मृति दिवस पर कार्यक्रम आयोजित

 

[ADINSETER AMP]

मधुबनी. ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय, दरभंगाक एकमात्र अंगीभूत इकाई बेनीपट्टी अनुमंडलक कालिदास विद्यापति साइंस कॉलेज, उच्चैठक सभागारमे प्रधानाचार्य डॉ. शुभ कुमार वर्णवाल जीक अध्यक्षता एवं मैथिली विभागक प्राध्यापक डॉ. सौरभ रौशन ठाकुरक संचालनमे विद्यापति स्मृति दिवस पर महाविद्यालयक मैथिली विभागक तत्त्वावधानमे महाविद्यालय परिवारक प्राध्यापक-प्राध्यापिका, शिक्षकेतर कर्मचारीगण एवं छात्र-छात्रा सभक द्वारा एकटा काव्यांजलि कार्यक्रमक आयोजन कएल गेल। कार्यक्रमक प्रारंभ दीप प्रज्ज्वलन, कविकोकिल महाकवि विद्यापतिक तैल चित्र पर माल्यार्पण ओ पुष्पांजलिसँ भेल। काव्यांजलिक शुरुआत छात्र आशीष कुमार द्वारा प्रस्तुत ‘जय- जय भैरवी असुर भयाओनि’ कविकोकिल विद्यापतिक कालजयी भगवती गीतसँ भेल। तकर बाद डॉ. सौरभ रौशन ठाकुरक प्रथम स्वरचित रचना ‘विद्यापति अहाँ नाम कएलहुँ, विद्यापति अहाँ गाम कएलहुँ’ श्रोता लोकनि द्वारा खूब सराहल गेल। डॉ. श्याम कुमार ठाकुर, अंग्रेजी विभागाध्यक्ष, आध्यात्मिक स्वरचित रचना ‘आभार ओहि विधाता केँ जे मनुक्खक रूप देल, मोनसँ जीबी ओहि जिनगी केँ’ प्रस्तुत कएल। रामचन्द्र मरर जी विद्यापतिक ‘बड़ सुख-सार पाओल तुअ’ तीरे’ सस्वर गीत प्रस्तुत कैलनि। मैथिली विभागाध्यक्षा डॉ. गुड़िया कुमारीक पहिल स्वरचित काव्य रचना ‘विद्यापति कवि छथि महान’ खूब थोपड़ी बटोरलक। प्रधानाचार्य डॉ. शुभ कुमार वर्णवाल जीक ‘कविकोकिल विद्यापति हे’ विद्यापति और उगना प्रसंग पर आधारित स्वरचित काव्य रचना सभागारमे भरल सभक ध्यान आकृष्ट कएल आ खूब सराहल गेल। हिनक दोसर स्वरचित कविता ‘देसिल बयना सब जन मिट्ठा’ महाकवि केर कालजयी रचना आ हुनक कृतित्व पर आधारित प्रशंसनीय रहल। एहि अवसर पर प्रधानाचार्य महाविद्यालयक नाम महाकवि कालिदास पर होयबाक कारणेँ महाकवि कालिदास पर अपन स्वरचित रचना प्रस्तुत केलनि। बाबा ‘यात्री’ जी केँ डा० नीलमणि झा सेहो स्मरण केलनि।

काव्यांजलिमे डॉ. राजा साहु, डॉ. विघ्नेश चन्द्र झा, डॉ. उदय कुमार साह, डॉ. ज्योतीन्द्र कुमार,  डॉ. अंजित कुमार ठाकुर, रामचंद्र मरर, छवि चन्द्र झा,  सत्यम, रबीन्द्र झा,  नारायणजी झा, अरुण कुमार झा, तथा छात्र-छात्रा मे आयुश कुमार चौधरी, मानवी कुमारी, स्मृति कुमारी, पूजा कुमारी, उषा कुमारी, काजल कुमारी, पूजा कुमारी, भारती कुमारी, दीक्षा झा, शिक्षा झा, काकलता, नीतू कुमारी, जूही प्रवीन, छोटी कुमारी, प्रीति कुमारी आदि सभ अपन-अपन प्रस्तुति देलनि। धन्यवाद ज्ञापन डॉ. गुड़िया कुमारी द्वारा देल गेल।

 1,231 total views

[ADINSETER AMP]
Spread the love
[ADINSETER AMP]
admin:

This website uses cookies.

[ADINSETER AMP]